Saturday, March 2, 2024
الرئيسيةDelhiडेमोक्रेटिक प्रेस क्लब की कोर कमेटी की बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण...

डेमोक्रेटिक प्रेस क्लब की कोर कमेटी की बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण फ़ैसले।

नई दिल्ली

डेमोक्रेटिक प्रेस क्लब (डीपीसी) की कोर कमेटी की एक महत्वपूर्ण बैठक फ़िरोजशाह रोड पर वरिष्ठ पत्रकार- संपादक संजय शर्मा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिसमें डीपीसी और पत्रकारों के हित में महत्वपूर्ण फ़ैसले लिए गए। जिसमें डीपीसी के कार्यों को नई दिल्ली में एशियन पत्रिका के प्रताप भवन कार्यालय से आगे बढ़ाया जाएगा। सभी पदाधिकारियों को पत्रकारों को जोड़कर आगे बढ़ने का आव्हान किया गया। देश की पत्रकारिता को दशा और दिशा देने के उद्देश्य से अगस्त के दूसरे सप्ताह में एक बड़ा आयोजन कराने की भी सहमति बनी। जिसमें देश के बड़े पत्रकारों जैसे रविश कुमार,अभिशार शर्मा,पी. वाजपेई, और जस्टिस काटजू जैसी बड़ी हस्तियों को मुख्य अतिथि बनाने पर विचार विमर्श हुआ। इस अवसर पर डेमोक्रेटिक प्रेस क्लब के राष्ट्रीय अध्यक्ष फ़रीद चुग़ताई,वरिष्ठ उपाध्यक्ष इक़बाल ख़ान,उपाध्यक्ष संजय शर्मा,महासचिव सईद अहमद,सचिव जावेद रहमानी,मीडिया सचिव अनवार अहमद नूर, सचिव इमरान कलीम, क़ौमी मीज़ान के संपादक, मशहूर शायर डा.माजिद देवबंदी और आईएनएन टुडे के अखिल साध उपस्थित रहे।
डेमोक्रेटिक प्रेस क्लब के संस्थापक एवं अध्यक्ष डॉक्टर फ़रीद चुग़ताई ने कहा कि पत्रकारों के हितों के लिए व्यवहारिक रूप में सभी को काम करना है। इसके लिए पत्रकारों को एकजुट करते हुए आगे बढ़ना है। डीपीसी में पायनियर, सम्मानित, कारपोरेट और सक्रिय सदस्यों को जोड़ना है और देश के विभिन्न स्थानों पर डीपीसी के प्रोग्राम करते हुए क्षेत्रीय पत्रकारों तक पहुंच बनानी है। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर डीपीसी को अधिक से अधिक हाईलाइट किया जाए। डीपीसी की वेबसाइट पर पत्रकारों और पत्रकारिता की अधिक से अधिक गतिविधियों को डाला जाना चाहिए।
बैठक में उपस्थित एनसीआर टुडे के संपादक संजय शर्मा ने डीपीसी के माध्यम से यूट्यूबर पत्रकारों के लिए नीति और गाइडलाइंस बनाकर सरकार से स्वीकृत कराने को कहा तथा उज्जैन,शिमला और ऋषिकेश में डीपीसी के प्रोग्राम कराने की कोर कमेटी से सहमति चाही,जिसका सभी ने ह्रदय से स्वागत किया।
वेबवार्ता न्यूज़ एजेंसी के संपादक और डीपीसी के महासचिव सईद अहमद ने डीपीसी के लिए कई प्रस्ताव रखे और उन पर विस्तृत चर्चा की।साथ ही आने वाले 9 मार्च को पत्रकारिता पर राजधानी दिल्ली में एक बड़ा आयोजन करने का प्रस्ताव रखा,जिसमें देश के बड़े पत्रकारों जैसे रविश कुमार,अभिशार शर्मा, पी. वाजपेई, और जस्टिस काटजू जैसी बड़ी हस्तियों को मुख्य अतिथि बनाने पर विचार विमर्श किया।
जर्नलिज्म टुडे के संपादक जावेद रहमानी, प्रकाश भारती के संपादक मो. इक़बाल ख़ान, मीडिया पंच के संपादक अनवार अहमद नूर की ओर से आए विचारों में कहा गया कि
पत्रकारों से संबंधित खबरों को वाच करके उन पर डीपीसी एक्शन ले। वैब साइट एक्टिव हो, पीड़ित पत्रकार और उसके परिवार के लिए पत्रकार रिलीफ़ फंड की स्थापना की जाए। साथ ही विभिन्न पत्रकारिता की कमेटियों और संस्थाओं में वरिष्ठ और सक्रिय पत्रकारों का नाम डीपीसी के माध्यम से भेजकर उन्हें मनोनीत कराने का कार्य किया जाए।
सभी का कहना रहा कि डीपीसी लगातार एक्शन भरे कदम उठाए। यू ट्यूबर और वैबसाइट के पत्रकारों पर नीति बने और संगठन अपने फैसलों को मनवाने के लिए हर प्रयास करे। आवश्यक हो तो पत्रकार हित में धरना प्रदर्शन और कानूनी लीगल कार्रवाई भी की जाए।

RELATED ARTICLES

ترك الرد

من فضلك ادخل تعليقك
من فضلك ادخل اسمك هنا

Most Popular

Recent Comments